मैं नीरो नहीं हूं, कि रोम जलता रहे और मैं बांसुरी बजाता रहूं- विधायक पाठक


सुनहरा संसार


  ग्वालियर दक्षिण विधायक  प्रवीण पाठक  ने अमृत योजना का काम देख रहे अधिकारियों से काम में बरती जा रही लापरवाही को लेकर रोष व्यक्त करते हुए कहा " मैं कोई नीरो नहीं हूं  जो  बांसुरी बजाता रहूं और रोम जलता रहे" सत्ता पक्ष के तेज तर्रार विधायक का यदि ये  हाल है आम लोगों की बिसात ही क्या है। 

  

इस बार विधायक पाठक अमृत  योजना के तहत हुई सड़कों की बदहाली को लेकर अधिकारियों पर विफर पड़े और उन्होंने इतनी बड़ी बात कह डाली। इससे पहले भी वे कई बार शहर की यातायात, विद्युत और अन्य व्यवस्थाओं में लापरवाही को लेकर अधिकारियों की क्लास लेते रहे हैं। इसके बावजूद न तो अधिकारियों के ढर्रे में और न ही शहर की व्यवस्थाओं में कोई सुधार देखने को मिला। सोमवार को अमृत योजना के शहर भर खुदी सड़कों की स्थिति देखने के लिए पहुंचे विधायक पाठक ने देखा कि न तो गुणवत्ता का ख्याल रखा जा रहा है और न ही समय पर कार्य पूरे किए जा रहे हैं। वहीं जहां  लाइन डालने के लिए सड़क खोदी गई है वहां प्रोपर तरीके से रेस्टोरेशन किया जा रहा है। लिहाजा जनता को सहूलियत देने वाली अमृत योजना  जनता के लिए सिरदर्द बन गई है। जनता में सड़क सीवर पानी को लेकर हाहाकार मचा हुआ है, अमृत योजना के तहत लाइन डालने के लिए  जगह-जगह सड़क खोदी पड़ी सड़कों पर लोग गिर रहे हैं घायल हो रहे हैं। वहीं कुछ स्थानों पर अमृत योजना के नाम पर सड़क का निर्माण भी रोक दिया गया है जिससे न तो सड़क ही बन पा रही है न ही अमृत योजना के तहत लाइन डाली जा रही है। इस लापरवाही को देखकर विधायक श्री पाठक ने कहा कि मैं जनता के दुख दर्द को देख कर चुप नहीं बैठ सकता, 

 " मैं कोई नीरो नहीं हूं  जो  बांसुरी बजाता रहूं और रोम जलता रहे"   उन्होंने कहा कि अमृत योजना 2035 तक व्यवस्थित वाटर सप्लाई और सीवरेज के लिए बनाई गई है आप लोगों से मैं लिखित में लूंगा कि अमृत योजना की लाइन डालने के बाद 2035 तक वाटर और सीवेज पाइपलाइन के लिए कोई भी  सड़क नहीं खोदी जाएगी। अब देखते हैं कि विधायक के तल्ख तेवरों का कुछ असर होता है या हमेशा की तरह ही सब कुछ चलता रहेगा। 

Popular posts