बीडीओ ने ग्राम प्रधान को  चौबीस घंटे में  लेखा-जोखा उपलब्ध कराने के दिए निर्देश


सुनहरा संसार


राकेश यादव

 बछवाडा़ (बेगूसराय)

 कोराना महामारी के मद्देनज़र बचाव कार्य के लिए पंचायतों को काफी राशि आवंटित की थी जिसके अनुपात में जमीन पर कार्य दिखाई नहीं दिए | वहीं राशि के बंदरबांट की शिकायतें भी हो रही थी, रकम के गोलमाल की आशंका पर बछवाडा़ बीडीओ नें सख्त रुख अपनाया और आय-व्यय से जुड़े दस्तावेज 24 घंटे मे उपलब्ध कराने के निर्देश जारी कर दिए ।

 


 

 बताते चलें कि कोरोना त्रासदी को देखते हुए सरकार  पंचम वित्त आयोग से विभिन्न दो किश्तों में पंचायतों को  राशि मुहैया कर चुकी है। बीडीओ डा०विमल कुमार नें बताया कि विभिन्न दलों के पार्टी कार्यकर्ताओं ,आम लोगों व मिडिया के माध्यम से पता चला है कि पंचायत के मुखिया द्वारा राशि आवंटन के बाद भी लोगों को सरकारी स्तर पर मास्क ,ग्लब्स , साबुन , सेनेटाइजर समेत अन्य सामग्रियों का वितरण नहीं किया  जा रहा है । वहीं स्वयं सेवकों द्वारा निजी तौर पर उपरोक्त सामग्रियों  का वितरण किया जा रहा है । जबकि पंचम वित्त से उक्त मद में क्या कार्य किए गये एवं कितनी राशि खर्च की गयी इसका लेखा-जोखा पंचायतों द्वारा प्रखंड कार्यालय के पास उलब्ध नहीं कराया गया है ।

बीडीओ नें पत्रांक 500/20 जारी करते हुए प्रखंड के सभी मुखिया को पंचायत सचिव के माध्यम से चौबीस घंटे के भीतर अबतक किए गये सभी खर्च का लेखा-जोखा समर्पित करने को कहा है । चौबीस घंटे के भीतर लेखा-जोखा प्रस्तुत नहीं करने की स्थित में यह माना जाएगा कि विभागीय आदेश एवं आम लोगों के प्रति संवेदनहीन हैं और अब तक पंचम वित्त की राशि का कोई खर्च नहीं किया गया है ।

Popular posts