कोविड-19 संक्रमण - प्रशासन और समाज सेवियों की जुगलबंदी से कोरोना को मात


 


   सिंधिया को आदर्श मानने वाली श्रीमती खैनवार जुटी समाज सेवा में


सुनहरा संसार


 

वैश्विक महामारी  कोरोना का  घातक संक्रमण  दुनिया भर मे तवाही मचा रहा है | चिंता की बात है कि इस महामारी से हमारा देश भी अछूता नहीं रहा , लेकिन खुशी की बात यह है कि सीमित संसाधनों और बंधुत्व की भावना के दम पर हम इस पर जीत की ओर अग्रसर हैं |

 

कोरोना से जंग में मप्र के ग्वालियर जिले मे क्या शहर और क्या ग्रामीण, हर कहीं प्रशासनिक और समाजिक स्तर पर जो लडा़ई लडी़ जा रही है उसी का परिणाम है कि ग्वालियर कोरोना मुक्ति के रास्ते पर चलकर फिर से पटरी पर आने की तैयारी मे जुट गया है | इसके लिए कोरोना से लड़ रहे युद्ध वीरों, फिर वह चाहे चिकित्सक हों या सफाई मित्र या फिर अन्य सभी अपनी जान की बाजी लगाकर इसे खदेड़ने में दिन-रात जुटे हुए हैं |


इससे भी अच्छी बात यह है कि ऐसे वीरों की हौसला अफजाई के लिए सामाजिक संगठन और समाज सेवी भी खुले मन से उनकी जरूरतों में हाथ बटाकर उनका स्वागत और सम्मान करने में पीछे नहीं हैं | कहीं पुलिस बल पर फूल वर्षा हो रही तो कहीं संक्रमण से सुरक्षा हेतु सामग्री भेट की जा रही है तो कहीं जरूरतमंद और भूखे लोगों को खाना और खाद्य सामग्री बांटी जा रही है |

 



ऐसी ही एक समाज सेविका हैं किरन खैनवार जो जनसेवा के लिए पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया को अपना आदर्श मानती है | वह इस संकट की घड़ी में बिना किसी दिखावे के शहर और सुदूर ग्रामीण इलाकों में लोगों को भोजन और सुरक्षा सामग्री वितरित करके कोरोना योद्धा के रूप मे कार्य कर रही है | शनिवार को उन्होंने योद्धा की तरह कार्य कर रहे सफाई मित्रों को कोरोना से लड़ने के लिए हाईजीन किट भेंट करते हुए कहा कि संघर्षशील  योद्धाओं का मैं हृदय से अभिनंदन करती हूं और कोटि कोटि प्रणाम करती हूं हम सभी सिंधिया समर्थकों के हृदय में इनका सदैव विशेष स्थान रहेगा | वास्तव मे यह सम्मान के अधिकारी हैं इसीलिए हम सिंधिया समर्थक इनका सम्मान कर रहे है |

 


Popular posts