कोरोना काल- भीषण सड़क हादसे में 24 की गई जान दर्जनों घायल


सुनहरा संसार



उत्तर प्रदेश के औरेया में  रात को 3 से 3.30 बजे के बीच जब सड़कों पर सन्नाटा था. तब मजदूरों से भरी डीसीएम में सामने से आ रहे ट्रक ने टक्कर मार दी जिससे दो दर्जन मजदूरों की मौत हो गई, घटना की जानकारी मिलते ही मुख्यमंत्री ने आर्थिक मदद की घोषणा करते हुए जिम्मेदारों के खिलाफ निलंबन की कार्रवाई के आदेश भी दिए | इधर मध्यप्रदेश के गुना जिले में आज फिर सड़क पर ट्रकों की भिड़ंत हुई जिसमें तीन लोगों की मौत और 9 लोगों के घायल होने की जानकारी मिल रही है |

कोरोना संकट और लॉकडाउन प्रवासी मजदूरों के लिए काल बन गया है। लॉकडाउन में फंसे प्रवासी मजदूर किसी तरह अपनी जिंदगी बचाने के लिए घरों की ओर लौट रहे हैं, मगर बदनसीबी ऐसी कि काफी संख्या में हादसों का भी शिकार हो रहे हैं। प्रवासी कामगार मजदूरों के सामने बड़ा संकट आन खड़ा हुआ है। लॉकडाउन में आमदनी के सारे रास्ते बंद हैं, जिसकी वजह से शहरों में उनका जीना मुश्किल हो गया है। हजारों मजदूर पैदल या फिर किसी तरह ट्रकों में लदकर घरों की ओर लौट रहे हैं। मगर पिछले कुछ दिनों में अलग-अलग सड़क हादसों में बड़ी संख्या में मजदूरों की मौत हुई है। आज यानी शनिवार की सुबह यूपी के औरैया में सड़क हादसे में करीब 24 मजदूरों की जानें चली गईं। तो चलिए जानते हैं अब तक कहां-कहां हादसे हुए हैं और कितने घर उजड़े हैं।

 

इस हादसे में 24 मजदूरों की मौत हो गई है, कई मजदूर अस्पताल में गंभीर रूप से घायल स्थिति में अस्पताल में भर्ती हैं. ये टक्कर इतनी तेज थी कि इसकी आवाज आसपास के गांव में सुनाई दी | अंधेरा होने की वजह से मजदूरों को मदद मिलने में देरी हुई, जिससे कई मजदूरों की इलाज के अभाव में मौत हो गई | दिल्ली-कानपुर हाइवे पर हुए दर्दनाक हादसे में 36 श्रमिक गंभीर रूप से घायल हैं। औरैया के डीएम अभिषेक सिंह ने बताया कि यह हादसा सुबह तकरीबन साढ़े तीन बजे हुआ। इस हादसे में अब तक 24 लोगों की मौत हुई है। इनमें से ज्यादातर मजदूर बिहार, झारखंड और पश्चिम बंगाल के रहने वाले थे।

टक्कर की वजह से डीसीएम चकनाचूर हो गया. ये मजदूर दिल्ली से गोरखपुर जा रहे थे. मजदूर राजस्थान से दिल्ली पहुंचे थे और यहां से गोरखपुर जा रहे थे. एक घायल मजदूर ने कहा कि ट्रक में 40 से 50 मजदूर थे. घायलों में लगभग 20 मजदूरों को जिला अस्पताल और सैफई पीजीआई में भर्ती कराया गया है.

 

कोरोना से बचे तो हादसों ने निगली जिंदगियां


आज यूपी के औरैया में 24 मजदूरों की मौत

इससे पहले बुधवार की रात को उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर-सहारनपुर हाईवे पर एक दर्दनाक सड़क हादसा हुआ था। मुजफ्फरनगर हादसे में पंजाब से पैदल बिहार अपने गांव जा रहे 6 मजदूरों को एक तेज रफ्तार बस ने रौंद दिया था। सभी मजदूरों की मौके पर मौत हो गई थी। वहीं बुधवार को ही मध्य प्रदेश के गुना में भीषण सड़क हादसे में 8 मजदूरों की मौत हो गई थी। इस सड़क हादसे में करीब 50 से अधिक मजदूर घायल हो गए थे। गुना जिले में आज एक बार फिर सड़क हादसे में तीन मजदूरों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि 13 लोग घायल बताए जा रहे हैं। जिले में इससे पहले बुधवार-गुरुवार रात को एक कंटेनर और बस में जोरदार टक्कर हुई थी

 

महाराष्ट्र के औरंगाबाद में पैदल घर जा रहे 16 मजदूरों उस वक्त हादसे का शिकार हो गए, जब वह आराम करने के लिए रेल की पटरियों पर सो गए थे, तभी मालगाड़ी ने उन्हें कुचल दिया। औरंगाबाद ट्रेन हादसे में 16 मजदूरों की जानें गई थीं। बिहार के समस्तीपुर जिले के उजियारपुर में मुजफ्फरपुर से प्रवासियों को लेकर कटिहार जा रही बस की ट्रक से टक्कर हो गई। इस हादसे दो बस यात्रियों की मौत हो गई और करीब 30 लोग घायल हो गए थे

Popular posts