बेलगाम अपराधी - घर में घुसकर युवक को मारी गोली


सुनहरा संसार 


 


 


वर्ष 2002 में भी अपराधियों ने गोली मारकर की थी पिता की हत्या 


 


राकेश यादव:-


बेगूसराय:-


बिहार के बेगूसराय जिले में अपराधिक तत्व इस तरह बेलगाम हो चुके हैं कि लोग अपने घरों में भी महफूज नहीं हैं। इसका ताजा उदाहरण है मनसुरचक थाना क्षेत्र का मामला, जहां अपराधियों नें दरबाजे पर बैठे एक युवक को गोली मार कर फरार हो गए, वहीं घायल युवक अस्पताल में जिंदगी और मौत के बीच जूझ रहा है ।


जिले के मंनसुरचक थाना अंतर्गत गोविन्दपुर दो पंचायत के अहियापुर गांव में शनिवार की देर रात दरवाजे पर बैठे राजनंदन चौधरी उर्फ भोलथ चौधरी के 35 वर्षीय पुत्र आलोक कुमार चौधरी उर्फ छोटू की अज्ञात अपराधियों ने गोली मारकर हत्या करने का प्रयास किया। गंभीर हालत में उसे बेगूसराय के निजी क्लिनिक में भर्ती कराया गया है। जहां उक्त युवक जिंदगी और मौत से जूझ रहा है। घटना के कारणों की जानकारी फिलहाल पुलिस को नहीं मिल पायी है। मिली खबर के अनुसार रात में आलोक अपने दरवाजे पर रखी चौकी पर बैठा हुआ था। तभी एक बाइक पर सवार दो बदमाश अचानक आ पहुंचे और उस पर ताबड़तोड़ गोलियों से हमला बोल दिया । गोली युवक की जांघ में और एक गोली बांह में लगी, जिससे वह जख्मी होकर धटना स्थल पर ही गिर गया युवक मृत समझकर बदमाश फरार हो गये । गोली चलने की आवाज सुनकर आसपास के लोगों की भीड़ जुट गयी, घटना के बाद ग्रामीणो नें पुलिस को सूचना दी।


 परिजनों जख्मी युवक को इलाज हेतु निजी क्लिनिक बेगूसराय ले गये जहां चिकित्सकों नें घायल युवक को खतरे से बाहर करार दिया है। थानाध्यक्ष पवन कुमार सिंह नें बताया कि युवक को गोली लगने की सूचना मिली है। युवक को किन कारणों से और किसने गोली मारी, यह जानकारी अभी नहीं मिल पायी है। जख्मी युवक व उसके परिजनों के ब्यान के बाद हीं घटना के कारणों का पता चल पायेगा। वैसे पुलिस अपने स्तर से मामले की जांच में जुटी हुई हैं। जानकारी के अनुसार आलोक कुमार चौधरी के पिता स्व राजनंदन चौधरी की भी हत्या वर्ष 2002 में गोली मारकर कर की गई थी।  


Popular posts