मप्र - जब नागरिक एवं खाद्य आपूर्ति मंत्री श्री तोमर ने गरीबों के लिए निर्धारित कार्यक्रम छोड़ा


सुनहरा संसार -


ग्वालियर। नागरिक एवं खाद्य आपूर्ति मंत्री प्रद्युमन सिंह तोमर द्वारा आज एक बार फिर से मानवीयता की मिसाल तब देखने को मिली जब उन्होंने घुमंतू (लौह पीटा) समाज के पुनर्वास एवं उनके नौ निहालों के बैहतर जीवन के लिए अपना निर्धारित कार्यक्रम त्याग दिया, और उनकी सेवा में लग गए।

हमेशा की तरह आज सुबह मंत्री प्रद्युमन सिंह तोमर क्षेत्र भ्रमण के लिए निकले तो उन्होंने देखा कि तानसेन रोड पर सड़क किनारे  रह रहे लोहपीटा समाज के लोग शर्दी में अपने बच्चों को लेकर बैबश बैठे थे, तभी मंत्री तोमर वहां से निकले तो जिस अंदाज के लिए वे जाने जाते हैं उसी अंदाज में गाड़ी रोककर उनकी और उनके बच्चों की स्थिति जानने लगे। मंत्री ने उनसे पूछा तो वह दुखी होकर कहने लगे कि हमे और बिरला नगर रोड़ पर सालों से रह रहे हमारे समाज के लोगो को  बिना बताए नगर निगम के लोगो ने जेसीबी और मदाखलत के माध्यम से मंगलवार को इस कड़कड़ाती सर्दी में हमारे आशियानों को तोड़ दिया। यही नहीं उन्होंने जल्द से जल्द  जगह खाली करने के लिए कहा नही तो सभी पर केश लगाने की धमकी भी दी।

घुमंतू जीवन जीने वाले इस समाज की पीड़ा सुन, मंत्री तोमर अपने पूर्व निर्धारित  को छोड़कर उन्हें लेकर कलेक्ट्रेट पहुंचे और प्रशासन की कार्रवाई पर नाराजगी जाहिर की। इसके बाद मंत्री श्री तोमर के साथ कलेक्टर,निगमायुक्त ,पुलिस अधीक्षक सहित सभी अधिकारी मोके पर पहुचे। मंत्री के निर्देश पर सभी को नारायण विहार में रहने की उचित व्यवस्था का निर्णय लिया गया। जहां शासन द्वारा उन्हें स्थाई पट्टे देने पर सहमति बनी।  इस दौरान लोहपीटा परिवार को विस्थापित करने के लिए कलेक्टर अनुराग चौधरी ने रेडक्रोस से 50 हज़ार, वहीं मंत्री तोमर ने विधायक निधि से भी 50 हज़ार की मदत की जाएगी। मंत्री तोमर द्वारा इस तरह की कार्रवाई को देखकर सभी ने मंत्री श्री तोमर को धन्यवाद दिया। 

 

Popular posts