मप्र - प्रियंका गांधी के जन्मदिन पर "इंदिरा इज बैक" का विज्ञापन सुर्खियों में


सुनहरा संसार - 
भोपाल मप्र । कांग्रेस में राहुल गांधी को फिर पार्टी अध्यक्ष की कमान सौंपने की चल रही कवायद के बीच आज महासचिव प्रियंका गांधी के जन्म दिन पर ‘इंदिरा इज बैक’ का नारा बुलंद हुआ है। इस नारे के सियासी मायने खोजे जाने लगे हैं। सवाल उठ रहा है कि क्या कांग्रेस के भीतर ही गांधी परिवार को लेकर दो धाराएं चल रही हैं। 
कमलनाथ सरकार के कद्दावर मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने अखबार में विज्ञापन छपवाया है। इसमें उन्होंने प्रियंका गांधी के 48वें जन्मदिवस के मौके पर प्रियंका की फोटो के साथ इंदिरा गांधी की तस्वीर लगाई है और लिखा है 'इंदिरा इज बैक' उन्होंने इस संदेश के जरिये दिखाया है कि प्रियंका गांधी इंदिरा गांधी का ही प्रतिरूप हैं. सज्‍जन सिंह वर्मा ने साथ में लिखा है, 'वही दूरदर्शिता..वही निष्ठा..वही इच्छाशक्ति..सभी धर्मों और समाज को एक साथ विकास की दिशा में लाने का जज्बा। 
फोटो के नीचे जन्मदिन की बधाई देते हुए प्रियंका के भाषण की कुुछ लाइनें भी लिखी हैं, 'मैं वचन देती हूं... मैं प्रियंका..भाषण नहीं देती हूं, आपसे दो शब्द कहती हूं जो मेरे दिल में है. डपोक लोग एक दिन धरती पर तो कब्जा कर सकते हैं, लेकिन वो लोगों के दिलों पर कभी राज नहीं कर सकते. यह देश सद्भावना, देशप्रेम और आपसी प्यार के आधार पर बना है, लेकिन आज जो कुछ देश में हो रहा है उससे दुख होता है. मैं इस देश को कभी बंटने नहीं दूंगी, देश की एकता को नहीं टूटने दूंगी. मैं वचन देती हूं.' हालांकि विज्ञापन में सोनिया गांधी, राहुल गांधी सहित कांग्रेस के तमाम बरिष्ठ नेताओं की तस्वीर लगी है।  पिछले कुछ समय से प्रियंका गांधी ने भी अपनी राजनीतिक सक्रियता को केवल अमेठी तक ही सीमित नहीं रखा। वहींं प्रियंका गांधी ने हाल के चुनावों में भााजपा नेताओं को उन्ही की शैैली में जबाव देकर सभी को चमत्कृत कर दिया, उनके इस अंदाज को देख कर लोग उनमें इंदिरा जी को देखने लगे। बहरहाल कारण जो भी हो लेकिन आज के विज्ञापन  केे बाद राजनीतिक गलियारों में तरह- तरह की अटकलों का बाजार पूरी तरह गर्म हो गया है । 


 

Popular posts