प्रशासन का अहम कदम , लॉकडाउन में घर बैठे मिलेगा इलाज और परामर्श


सुनहरा संसार


नागरिकों के लिये वॉटसैप द्वारा चिकित्सकीय परामर्श की सुविधा स्मार्ट सिटी के एकीकृत कंट्रोल कमांड सेंटर से शुरू कर दी गई है, जहां 


उपस्थित चिकित्सक व्यक्ति द्वारा बताये जाने वाले बीमारी के लक्षणों के आधार पर परामर्श और चिकित्सा सुविधा घर बैठे प्रदान करेंगे |

ग्वालियर | कोरोना को लेकर लोगों को अनेक प्रकार के संशय हैं तथा सामान्य सर्दी, खांसी  आदि होने पर भी वे भयभीत हो रहे हैं। वॉटसैप नम्बर 70890-03193 पर वीडीयो कॉल के माध्यम से शहर के नागरिक चिकित्सकों से लाइव परामर्श कर सकते हैं। इस सुविधा की सबसे ख़ास बात यह है की इसके लिये प्रत्यक्ष रूप से मिलने की ज़रूरत नहीं है जो सोशल डिसटेंसिंग में सहायक है। इस कॉल के दौरान चिकित्सक प्रारम्भिक जाँच उनकी ट्रैवल हिस्ट्री, सम्पर्क सूची, व  लक्षणों के माध्यम से कर रहे हैं। यदि कॉलर के लक्षण सामान्य सर्दी, जुकाम आदि के प्रतीत होते हैं तो डॉक्टर उन्हें साफ़ सफ़ाई, खान पान पर ध्यान देने के साथ ही घर के अन्य सदस्यों से दूरी बनाए रखने की सलाह देते हैं तथा यदि कोई केस उन्हें कोरोना संदिग्ध प्रतीत होता है तब आगे की प्रक्रिया हेतु  रैपिड रिस्पोंस टीम को सूचित किया जाता है। पहले दिन इस सुविधा के तहत 47  कॉल आए जिसमें 3 लोगों की जानकारी रैपिड रिस्पोंस टीम से साझा की गयी है। वहीं दो दिन पूर्व ग्वालियर से भेजे गए सैम्पल में से चार लोगों की रिपोर्ट प्राप्त हुई है , खुशी की बात है कि  नेगेटिव है। इनमे से एक सैम्पल कोरोना पॉज़िटिव पाए गए अभिषेक मिश्रा की पत्नी  सुमन मिश्रा का था जो कि नेगेटिव आया है।  इनके अलावा पिंकी, प्रांशु जोशी व शुभम उपाध्याय की रिपोर्ट भी नेगेटिव आयी है।  ग्वालियर से आज 6 सैम्पल कोरोना जाँच के लिए भेजे गए। ज्ञात हो कि अब तक ग्वालियर से कुल 20 कोरोना संदिग्धों के सैम्पल भेजे जा चुके हैं जिसमें से 1 पॉज़िटिव पाया गया था व 8 की रिपोर्ट नेगेटिव पाई गयी है। 11 सैम्पल की रिपोर्ट अभी प्रतीक्षित है। इसके अलावा आज 36 कोरोना संदिग्धों की जाँच रैपिड रिस्पोंस टीम द्वारा की गई। इन सभी को होम क्वॉरंटीन की सलाह चिकित्सकों द्वारा दी गई है।

Popular posts