चौथी बार सीएम बने शिवराज के कवीने में सिंधिया समर्थकों का बोल वाला !


सुनहरा संसार


             ग्वालियर-चंबल का दबदबा  


कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए देशव्यापी लॉकडाउन समाप्त करने की निर्धारित तिथि नजदीक आते ही प्रदेश सरकार के मंत्रिमंडल  गठन की चर्चा भी तेज हो गई है। उम्मीद जताई जा रही है कि फिलहाल 26 सदस्यीय मंत्री मंडल का गठन होगा , जिसमें कांग्रेस छोड़ कर भाजपा मे शामिल हुए सिंधिया समर्थकों का खास ध्यान रखा जाएगा |

  सूत्रों की मानें तो 15 अप्रैल यानि कि बुधवार को कैबिनेट आकार ले सकती है। मंत्रिमंडल में 26 सदस्यों को शामिल किया जाएगा , इनमें  कांग्रेस छोड़ कर भाजपा का दामन थामने वाले पूर्व विधायक शामिल हैं। पार्टी से जुड़े सूत्रों का मानना है कि 14 को लॉकडाउन के समाप्त होते ही 15 को राजभवन में शपथग्रहण समारोह आयोजित किया जाएगा। कैबिनेट के आकार लेते ही 16 या 17 को पुनः पूरे प्रदेश में शेष अप्रैल माह के लिए लॉकडाउन घोषित कर दिया जाएगा | मंत्री मंडल गठन की गतिविधियों को देखते हुए भाजपा और कांग्रेस छोड़ भाजपा मे शामिल पूर्व मंत्री और विधायको की भोपाल आमद तेज हो गई है |
          16 कैबिनेट 10 राज्य मंत्री 
शिवराज मंत्रिमंडल में फिलहाल 26 सदस्यों को शामिल किए जाने की संभावना है । इनमें 16 कैबिनेट मंत्री होंगे , जबकि 10 को राज्यमंत्री बनाया जाएगा। 

गौरतलब है कि 15 साल बाद सत्ता में आई कांग्रेसनीत कमलनाथ सरकार का पतन होने के बाद 23 मार्च सोमवार को शिवराज सिंह चौहान ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी। उस वक्त माना जा रहा था कि दो-चार दिन में मंत्रिमंडल भी आकार ले लेगा। लेकिन कोरोना संकट को देखते हुए प्रधानमंत्री ने 21 दिन के लॉकडाउन की घोषणा कर दी थी , लिहाजा मंत्रिमंडल का गठन नही हो सका। वहीं पद और पॉवर गंवाकर भाजपा में शामिल हुए मंत्रियों की दिनों-दिन बैचेनी बढ़ती ही जा रही थी, जिस पर अब विराम लगने की पूरी संभावना है | 


                  ये नाम लगभग तय

शिवराज मंत्रिमंडल के लिए फिलहाल गोपाल भार्गव, डॉ. नरोत्तम मिश्रा, गौरीशंकर शेजवार, यशोधरा राजे सिंधिया, रामपाल सिंह, राजेंद्र शुक्ल, भूपेंद्र सिंह, पारस जैन, विजय शाह, संजय पाठक, विश्वास सारंग, सुरेंद्र पटवा, सीताशरण शर्मा व जालिम पटेल के नाम पर सहमति बन गई है। इसके अलावा सिंधिया समर्थक तुलसीराम सिलावट, गोविंद सिंह राजपूत, इमरती देवी, प्रधुम्न सिंह तोमर, प्रभुराम चौधरी व महेंद्र सिंह सिसौदिया के नाम प्रमुख हैं। जबकि कांग्रेस छोड़ने वाले विसाहूलाल सिंह, ऐंदल सिंह कंषाना व राजवर्धन सिंह दत्तीगांव़ को भी मंत्रिमंडल में जगह मिलेगी। चर्चा यह भी है कि ग्वालियर ग्रामीण के विधायक भारत सिंह कुशवाह और भिंड जिले से अरविन्द सिंह भदौरिया को भी मंत्री बनाया जा सकता है, क्योंकि कांग्रेस को सत्ता से बेदखल करने में भदौरिया ने अहम भूमिका निभाई थी |


Popular posts