" जमलो " कोरोना से जीती मगर भूख से हार गई


सुनहरा संसार


छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित बीजापुर जिले में लॉकडाउन के दौरान तेलंगाना से वापस आते वक्त एक 12 साल की बच्ची की मौत की घटना  हर किसी को स्तब्ध कर गई । खबर है कि तेलंगाना से बीजापुर लौटते समय  किलोमीटर पैदल चलने के बाद 12 वर्षीय मासूम बालिका कोरोना से तो लड़ी मगर भूख से हार गई | की मौत हो गई है।  लगातार 3 दिनों तक पैदल सफर कर 12 साल की जमलो मड़कम छत्तीसगढ़ के बीजापुर के भंडारपाल गांव के करीब तब ही डिहाइड्रेशन का शिकार होकर मौत की गोद में समा गई जब वह अपने गांव के करीब पहुंच चुकी थी । बच्ची जमलो मड़कम अपने पिता एंडोरम (32) और माता सुकामाती मडकम (30) की इकलौती संतान थी, यह पहली बार था जब वह काम करने के लिए बाहर गई थी। बच्ची गांव की कुछ महिलाओं के साथ तेलंगाना गई थी। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बच्ची जमलो मड़कम के परिवार को 1 लाख रुपये देने की घोषणा की है। 


Popular posts