कानून व्यवस्था को लेकर सरकार की किरकिरी, डीजीपी श्री सिंह के हटने की अटकलें तेज


सुनहरा संसार 


मध्यप्रदेश  मे प्रशासनिक फेरबदल की कड़ी में कमलनाथ सरकार बहुत जल्द पुलिस महकमे की कमान डीजीपी वीके सिंह से लेकर अन्य अधिकारी को सौपने तैयारी में है। 



 सूत्रों के मुताबिक डीजीपी पद के लिए प्रबल दावेदारों में सबसे ऊपर एसआईटी चीफ राजेंद्र कुमार हैं इनके विषय में कहा जाता है कि सरकार के साथ इनका संबंध बेहद मधुर है। वहीं प्रदेश में लगातार कानून व्यवस्था को लेकर सवाल खड़े किए जा रहे हैं, फिर चाहे सतना में कारोबारी के बच्चों के अपहरण का मामला हो या फिर नागरिकता संशोधन कानून को लेकर जबलपुर में हुए पथराव और राजगढ़ में हुए प्रदर्शन का। ताजा मामला धार के मनावर का है, जिसमें भीड़ ने एक व्यक्ति को पीट-पीटकर मार डाला। कानून व्यवस्था के मुद्दे पर विपक्ष भी आक्रामक है और मुख्यमंत्री कमलनाथ के इस्तीफे की मांग कर रहा है। हनीट्रैप मामले की एसआईटी के गठन और उसमें बदलाव को लेकर भी प्रशासन की किरकिरी हो चुकी है। 

गौरतलब है कि डीजीपी के चयन के लिए यूपीएससी पैनल को भी रद्द किया जा चुका है ऐसे में डीजीपी वीके सिंह की छुट्टी लगभग तय मानी जा रही है।

 





          इन्हें मिल सकती है कमान

मध्य प्रदेश के नये पुलिस महानिदेशक की दौड़ में 1984 बैच के आईपीएस एम एस गुप्ता तथा 1985 बैच के आईपीएस राजेंद्र कुमार सबसे आगे हैं। इनमें से किसी एक को अगला डीजीपी बनाया जा सकता है जिसमें राजेंद्र कुमार की प्रबल संभावना है। 

 

 




 

 

 



Popular posts