परिवहन विभाग के निरीक्षण दल पर भाजपा विधायक को रंगबाजी पड़ी भारी, हुई एफआईआर दर्ज


सुनहरा संसार


रीवा  शहर के बाइपास रोड़ पर  शनिवार की शाम परिवहन विभाग वाहनों की चेकिंग कर रहा था तभी सतना से लौट रहे मऊगंज विधायक प्रदीप पटेल ने अपना वाहन सड़क पर खड़ा कर दिया और परिवहन विभाग द्वारा की जा रही वाहनों की चेकिंग को प्रभावित करते हुए अवैध वसूली किए जाने का आरोप लगाते हुए जबरन शासकीय दस्तावेज छीन लिए, परिवहन विभाग ने थाने में एफआईआर दर्ज कराई।
फाइल


विधायक के सड़क पर उतरते ही मार्ग पर जाम लग गया जिससे आवागमन रुक गया। श्री पटेल का कहना था कि परिवहन विभाग जांच के नाम पर लोगों से वसूली कर रहा है। वहीं जैसे ही इसकी जानकारी परिवहन विभाग के अधिकारियों को लगी वे मौके पर पहुंचे वहीं  परिवहन निरीक्षण दल का कहना है  विधायक द्वारा शासकीय कार्य में बाधा डालने का काम किया गया है तथा बकाया टैक्स वाले वाहन को दबाब बनाकर छुड़ाने जैसा आरोप लगाकर विधायक पर सवाल उठाए हैं। इसको लेकर परिवहन विभाग के  एटीएसआई अशोक कुमार मोर्य ने चोरहटा थाने में विधायक श्री पटेल के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करायी है कि शासन के निर्देश अनुसार वह परिवहन निरीक्षक मोहम्मद अलीम के साथ टीम को लेकर वाहनों की चेकिंग कर रहे थे इसी दौरान विधायक श्री पटेल ने उनके वाहन के सामने अपना वाहन अड़ा दिया। यही नहीं उन्होंने गंदी भाषा का भी प्रयोग किया तथा शासकीय दस्तावेज भी छीन लिए। यही नहीं इससे पहले भी हनुमना चेकपोस्ट पर भी मनमानी के लिए विधायक द्वारा विभाग पर दबाव बनाने का प्रयास किया जा चुका है। 


     इन धाराओं में हुई एफआईआर

एटीएसआई श्री मोर्य की शिकायत पर पुलिस थाना चोरहटा में मऊगंज विधायक प्रदीप पटेल के खिलाफ धारा 341,147,353,186,294 और 506 के तहत एफआईआर दर्ज की गई है।   

   रीवा से, प्रशासन पर दबाव बनाने का दूसरा मामला

इससे पहले विधायक राजेंद्र शुक्ला द्वारा निगमायुक्त पर दबाव बनाने का मामला भी काफी तूल पकड़ चुका था। यहां तक कि निगमायुक्त शभाजीत यादव ने विधायक शुक्ला को मानहानि नोटिस तक दे दिया। उसके बाद भाजपा विधायक पटेल की रंगदारी का मामला सामने आया है। इसमें बताया जाता है कि विधायक पटेल अपने किसी मिलने वाले के टेक्स बकाया वाहन को छुड़ाने आए आए थे लेकिन निरीक्षण दल तैयार नहीं हुआ और मामला बिगड़ गया। 

Popular posts